संवादसूत्र, दिनहाटा : 'भगवान का वास मंदिर में नहीं, मनुष्य के मन में है।' इस सद्भावना के साथ दिनहाटा के ब्वॉयज रिक्रिएशन क्लब की ओर से शनिवार को शहर में मानव पूजा का आयोजन किया गया। क्लब की ओर से शनिवार को क्लब प्रांगण में समाज में भिक्षाटन कर गुजारा करनेवाले लोगों के माथे पर चंदन से तिलक लगाकर व गले में माला पहनाकर उनको भगवान की भांति पूजा गया। घंटा, शंखनाद, उलु ध्वनि के साथ मानव पूजा संपन्न हुई। क्लब के सचिव गोकुल सरकार ने कहा कि उनके द्वारा आयोजित मानव पूजा का यह सातवां वर्ष है। उन्होंने कहा कि मनुष्य के मन में ही देवता है, इस सद्भावना को उजागर करने के लिए जरूतमंद लोगों की पूजा कर उन्हें भरपेट भोजन कराया गया। साथ ही उन्हें गरम कपड़े प्रदान किए गए।

इस अवसर पर राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित शिक्षक श्यामल धर, वरिष्ठ शिक्षक रामचंद्र साहा, दिनहाटा महकमा अस्पताल के सुपर डॉक्टर रंजीत मंडल, डॉक्टर उज्ज्वल आचार्य, खिलाड़ी चंदन सेनगुप्त, क्लब के सचिव गोकुल सरकार, अध्यक्ष अनिर्वाण नाग समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप