संवाद सूत्र, माथाभांगा : माथाभांगा में नव निर्मित मछली बाजार के निर्माण पर लोग दबे स्वर में सवाल उठाने लगे है। इस बाजार के निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तमाल किया गया। दीवार को बने अधिक दिन भी नहीं हुए कि वह फट गयी। इसे लेकर उत्तर बंग विकास विभाग के पास शिकायत भी दर्ज करायी गयी है। गौरतलब है कि छह लाख रूपये के अनुदान से मछली बाजार का निर्माण कराया गया था। लेकिन उद्घाटन से पहले इसकी हालत जर्जर हो गयी है। व्यवसायियों ने कहा कि यहां दुकान लगाने से हमें डर लगता है। प्राण का संकट है। कब दीवार सिर पर गिर जाए, पता नहीं।

माथाभांगा व्यवसायी समिति के संजीव पोद्दार ने बताया कि व्यवसायियों के हित के लिए हमने बिल्डिंग का प्लान दिखाने की मांग की थी। लेकिन हमें नहीं दिखाया गया। इस जर्जर अवस्था में कोई दुकान में जाएगा, तो उसके जान पर खतरा बना रहेगा।

वहीं ठेकेदार जयदीप सरकार ने बताया कि पिलर में कहीं फांक नहीं है। कहीं कुछ भी फटा नहीं है। वहीं माथाभांगा नगरपालिका के उप पौरपति चंदन दास ने बताया कि हमारे पास शिकायत आयी है। मछली बाजार का भवन ठीक नहीं है। आगामी 10 सितम्बर को मछली बाजार के उद्घाटन की बात थी। मैंने बाजार जाकर स्थिति का मुआयना भी किया। मैनें ठेकेदार व मंत्री रवींद्रनाथ घोष से शिकायत भी की है। जरूरत हुई तो उत्तर बंगाल विकास विभाग के इंजीनियर को साथ लेकर मुआयना किया जाएगा।

कैप्शन : मछली बाजार के दीवार में दरार

Posted By: Jagran