-पूजा का थीम है 'मातृ ऋण'

-असहाय मां की व्यथा दिखायेंगे पंडाल के माध्यम से : सुब्रत मुखोपाध्याय

संवाद सूत्र, दिनहाटा : आज के भोग वादी संस्कृति व दो पीढि़यों के टकराव के कारण बूढ़ी मां की अंतिम सांस वृद्धा आश्रम में कटती है। मां के दूध का कर्ज आज के बेटे-बेटियां उतार नहीं पा रहे है। इस करूण भावना को थीम बनाकर दिनहाटा गोसानी मांड रोड दुर्गापूजा कमेटी पंडाल तैयार कर रही है। दिनहाटा के बिग बजट के पूजा में इसका विशेष स्थान है। इस पंडाल में हर साल पंचमी के दिन से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते है।

पूजा कमेटी के सदस्य सुब्रत मुखोपाध्याय ने बताया कि मेदनीपुर के कलाकार पिछले दो महीने से पंडाल की तैयारी कर रहे है। मंडप में असहाय मां की व्यथा को दिखाया जाएगा। आज की पीढि़ साधन-सम्पन्न होकर भी मां का खर्च उठा नहीं पाते। इस पंडाल के निर्माण में 50 पंडाल के कारीगर काम में जुटे हुए है। साथ ही विभिन्न जागरूकता मूलक कार्यक्रम भी इसबार दुर्गापूजा में किया जाएगा।

कैप्शन : पूजा पंडाल निर्माण में जुटे कारीगर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप