-30 अक्टूबर को होगा चुनाव

-भाजपा उम्मीदवार निशिथ प्रामाणिक ने जीत के बाद विधायक पद से दिया था इस्तीफा

-दिनहाटा में हुआ था कड़ा मुकाबला, मात्र 57 वोट से हारे थे उदयन गुहा

संवाद सूत्र,दिनहाटा : विधानसभा चुनाव 2021 में दिनहाटा का सीट कांटे के टक्कर वाला था। भाजपा के निशिथ प्रामाणिक ने पूर्व विधायक व तृणमूल के उम्मीदवार उदयन गुहा को 57 वोट से हराया था। चुनाव आयोग न इस सीट पर होने वाले उपचुनाव की घोषणा मंगलवार को कर दी है। घोषणा होते ही राजनीतिक गलियारे में फिर से हलचल तेज हो गयी है। सभी राजनीतिक दल अपने-अपने उम्मीदवारों को लेकर तैयारी कर रहें है। वहीं तृणमूल का एक गुट मांग कर रहें है कि उदयन गुहा को ही उम्मीदवार बनाया जाए। कुछ उत्साही कार्यकर्ता चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिए। बतादें कि चुनाव परिणाम के सात दिनों के बात ही विजयी उम्मीदवार निशिथ प्रामाणिक ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। उप चुनाव में भी मुकाबला तृणमूल व भाजपा उम्मीदवार के बीच ही होगा।

तृणमूल के जिला चेयरमैन उदयन गुहा ने बताया कि उप चुनाव की घोषणा से मैं काफी खुश हूं। पिछले छह माह से दिनहाटा में विधायक का पद रिक्त है। दिनहाटा के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। दिनहाटा में तृणमूल की ही जीत होगी। दो नवंबर को चुनाव परिणाम से यह प्रमाणित हो जाएगा। पूजा के दौरान दोस्तों, रिश्तेदारों से मिलकर चुनाव प्रचार भी किया जाएगा। फारवर्ड ब्लॉक के राज्य महासचिव अब्दुर रैफ ने बताया कि पूजा के दौरान उप चुनाव होगा। चुनाव आयोग को सभी सीटों पर उप चुनाव एक साथ कर देना चाहिए था। चुनाव आयोग शायद बंगाल की संस्कृति को नहीं जानते, इसलिए उत्सव के माहौल में उपचुनाव की तिथि दी है। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष मालती राभा ने बताया कि हम उपचुनाव के लिए तैयार है। लोकसभा व विधानसभा चुनाव में हमें जनता ने जीत दिलायी थी। हम चाहते है कि दिनहाटा के सभी मतदाताओं को वैक्सीन दिया जाए। चुनाव में हम केंद्रीय सुरक्षा बल की मांग करेंगे, ताकि शांतिपूर्ण मतदान हो सके।

Edited By: Jagran