संवादसूत्र, दिनहाटा : दिनहाटा के नयारहाट हुए तृणमूल कांग्रेस के गुटीय संघर्ष की घटना में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया। मंगलवार सुबह स्थानीय इलाके से विधायक उदयन गुहा के सहयोगी तृणमूल दिनहाटा विधानसभा के कार्यकारी कमेटी के सदस्य आजिजार रहमान के अलावा पूर्व ब्लाक अध्यक्ष मीर हूंमायू कवीर व ग्राम पंचायत के प्रधान ममताज बेगम के अनुयायी लक्ष्मण बर्मन को गिरफ्तार किया।

मालूम हो कि विधायक उदयन गुहा व पार्टी के पूर्व ब्लाक अध्यक्ष मीर हूंमायू कवीर के बीच अपनी क्षमता को दिखाने के लिए पिछले पंचायत वोट के बाद से राजनीतिक लड़ाई शुरू हुई। इलाके में कई बार इसे लेकर संघर्ष की घटना घट चुकी है। आरोप है कि सोमवार सुबह नयारहाट के तृणमूल कार्यालय में तोड़फोड़ के साथ कई लोगों के साथ विधायक के सहयोगियों ने मारपीट की। इसके बाद इलाके के प्रधान के अनुयायी ने दिनहाटा विधान सभा के कार्यकारी कमेटी के सदस्य अजिजुर रहमान के घर पर हमला करते हुए तृणमूल कार्यकर्ताओं के वाहनों में आग लगा दी। इस घटना के बाद से इलाके में उत्तेजना देखा गया। इसके बाद दोनों पक्षों की ओर से साहेबगंज थाना में शिकायत दर्ज कराई गई।

साहेबगंज थाना के ओसी हेमंत शर्मा ने कहा कि इस दिनों दोनों ओर से देा नेताओं को गिरफ्तार किया गया।

नयारहाट ग्राम पंचायत के प्रधान व पूर्व ब्लाक के अध्यक्ष के अनुयायी ममताज बेगम ने कहा कि विधायक उदयन गुहा के अनुयायी इलाके को अशांत करने का प्रयास कर रहे है। उनलोगों ने खुद की पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ करके अपने ही बाइकों में आग लगाकर ममता बनर्जी की पार्टी का बदनाम करने की कोशिश कर रहे है।

इधर विधायक उदयन गुहा ने कहा कि उनका कोई अनुयायी नहीं है। वे सभी ममता बनर्जी के अनुयायी है। कल की घटना में पुलिस कानून को मानकर काम कर रही है। दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस