जागरण संवाददाता, आसनसोल : आसनसोल नगरनिगम इलाके में विकास कार्यों और विभिन्न मुद्दों को लेकर बैठक करने के लिए तृणमूल कांग्रेस नेताओं की टीम और विधायक सोमवार को नगरनिगम मुख्यालय पहुंचे। यहां उनके बीच घंटों बैठक हुई। बैठक में विकास कार्यों से लेकर विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई।

बैठक के दौरान निगम चेयरमैन अमरनाथ चटर्जी ने कहा कि प्रशासन एवं पार्टी मिलकर संयुक्त रूप से शहर के विकास के लिए काम करेंगे। बैठक में आने वाली दुर्गापूजा के मद्देनजर कुछ महत्वपूर्ण बिदुओं पर चर्चा की गयी। इनमें आटो-टोटो का रूट तय करना, शहर को जाम की समस्या से निजात दिलाना, बदहाल सड़कों की मरम्मत एवं लाइटिग आदि प्रमुख थे। उन्होंने लोगों द्वारा टैक्स न दिए जाने के मुद्दे पर भी बात की। इनका कहना था कि अगर शहर की जनता अपना टैक्स नहीं देगी तो निगम के लिए लोगों को बुनियादी सुविधाएं देना संभव नहीं होगा। वहीं पानी की समस्या को दूर करने और सड़कों की मरम्मत करने की बात की गई। बैठक में चेयरपर्सन अमरनाथ चटर्जी, प्रदेश टीएमसी सचिव सह नगरनिगम संयोजक वी. शिवदासन दासू , जिलाध्यक्ष बिधान उपाध्याय, आइएनटीटीयूसी जिलाध्यक्ष अभिजीत घटक, जामुड़िया विधायक हरेराम सिंह, रानीगंज ब्लाक अध्यक्ष रूपेश यादव, हीरापुर ब्लाक अध्यक्ष लखन ठाकुर, नगरनिगम वाइस चेयरमैन डा. अमिताभ बसु, सदस्य चंद्रशेखर कुंडू, मीर हासिम, दिव्येंदु भगत समेत निगम के अभियंता एवं अधिकारीगण मौजूद थे।

रानीगंज को लेकर हुई बहस : सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रानीगंज बोरो कार्यालय एवं वहां के एक अभियंता को लेकर बैठक में जोरदार बहस हुई। पार्टी के नेताओं ने इसे लेकर चेयरपर्सन को घेरा। चेयरपर्सन ने इसे लेकर विधायक के सिर पर ठीकरा फोड़ा। तो नगरनिगम के एक पूर्व पदाधिकारी भड़क गये। तृणमूल नेताओं का कहना था कि उक्त अभियंता पर काफी आरोप है। उसके खिलाफ काफी शिकायतें है। इसके बावजूद उसका बचाव क्यों किया जा रहा है। वहीं कुछ और मुद्दों को लेकर नेताओं ने सवाल खड़े किये।

Edited By: Jagran