जागरण संवाददाता, आसनसोल : सीतारामपुर भारतीय खाद्य निगम ( एफसीआइ) के कर्मियों, ट्रक चालक और मालिकों ने मंगलवार को गोदाम का गेट जाम कर धरना प्रदर्शन किया। आंदोलन के कारण किसी भी अधिकारी को गेट के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया और अपनी मांगों को लेकर आंदोलनकारी नारेबाजी करते रहे। घंटों बाद प्रबंधन के आश्वासन के बाद आंदोलन समाप्त हुआ।

धरना प्रदर्शन के दौरान यूनियन नेता राजीव सिन्हा ने बताया कि ब‌र्द्धमान जिला में एफसीआइ द्वारा अनाज का वितरण करने के लिए पूर्व और पश्चिम नामक दो जोन हैं। जिला कार्यालय द्वारा पश्चिम जोन के सीतारामपुर एफसीआइ गोदाम के साथ दोहरी नीति अपनायी जा रही है। प्रत्येक 10 तारीख को अनाज वितरण के लिए आरओ जिला कार्यालय से मिलता है, लेकिन देखा जा रहा है कि दुर्गापुर स्थित डिपो को प्रत्येक महीने 10 तारीख को आरओ मिल जाता है। वहीं सीतारामपुर को एक महीने बाद आरओ दिया जा रहा है। जिसको लेकर एफसीआइ के जिला अधिकारी से मिलकर प्रत्येक महीने आरओ देने की मांग की गई थी। आश्वासन मिला था कि 10 तारीख को आरओ मिल जाएगा, परंतु 14 तारीख को मालूम चला कि इस महीने भी सीतारामपुर डिपो को आरओ नहीं मिला। जिससे मजबूरन हमें आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ा। आरओ विलंब से मिलने के कारण ट्रक ड्राइवर, खलासी से लेकर मजदूर बेकार बैठे हैं। एक तो कोरोना संकट में खाने के लाले पड़े हैं, ऊपर से अधिकारियों की लापरवाही के कारण उन लोगों के समक्ष विकट समस्या आ गई है। आंदोलनकारियों ने कहा कि जब तक हमारी मांग नहीं मानी जाएगी आंदोलन जारी रहेगा। बाद में प्रबंधन के आश्वासन पर आंदोलन खत्म किया गया।

Edited By: Jagran