बराकर: सेल कोलियरी डिवीजन के नगर कोलियरी में शनिवार को तीसरे दिन भी मांगों को लेकर ठेका श्रमिकों ने कोलियरी प्रबंधक कार्यालय के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। कोलियरी प्रबंधक कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर रहे श्रमिकों ने कहाकि रामनगर कोलियरी के सलानपुर सीम तथा लाईकडीह सीम में आउटसोर्सिंग कंपनी रुंगटा प्रोजेक्ट द्वारा कोयला का उत्पादन किया जाता है। लेकिन विगत 17 दिनों से जमीन के बदले नौकरी की मांग को लेकर विस्थापितों द्वारा आंदोलन किये जाने से दोनों प्रोजेक्ट में कोयला का उत्पादन ठप है। जिससे आउटसोर्सिंग कंपनी द्वारा नो वर्क नो पे का नोटिस लगा दिये जाने से हमलोगों की हाजिरी नहीं बन पा रहीं है । वेतन के अभाव में लगभग 400 ठेका श्रमिक भुखमरी की कगार पर पंहुच गए है। तीन दिन से ठेका श्रमिक प्रदर्शन कर रहे है और तीन दिन से ही कोलियरी महाप्रबंधक टी राय भी कार्यालय नहीं आ रहे है । जिससे समस्या का कोई हल नहीं हो पा रहा है। कोलियरी के एजीएम सह लाईकडीह के माइनिग मैनेजर एलके भरद्वाज से भी कई बार बातचीत हुई । लेकिन कोई फैसला नहीं हो पा रहा है । वहीं आउटसोर्सिंग कंपनी के साइडिग इंचार्ज ने कहाकि हम तो उत्पादन करना चाहते है। ताकि ठेका श्रमिकों को काम मिल सके । लेकिन उत्पादन नहीं होने पर बैठाकर श्रमिकों को वेतन देने की स्थिति में नहीं है। इस दौरान प्रदर्शन में ठेका श्रमिक अजीत प्रसाद, संजय ओझा, आपू घोष, विदू घोष, बबाई घोष, मागाराम पाल, जहर घोष, धनंजय घोष, मधुसूदन घोष, ओफेस चटर्जी, रघुनाथ पीठ आदि श्रमिक उपस्थित थे ।

.............

जीएम ने कुछ भी बताने से किया इंकार

बराकर: रामनगर कोलियरी के जीएम टी राय शनिवार दोपहर कार्यालय आये। कोलियरी में उत्पादन ठप होने तथा ठेका श्रमिकों की समस्या को लेकर उनसे पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप