आसनसोल : 2017 में बर्नपुर रोड के मुथूट फाइनेंस में आठ करोड़ से अधिक का सोना एवं नकदी डकैती मामले में शनिवार को पटना के बेउर सेंट्रल जेल से आरोपित सुबोध सिंह, राजीव सिंह उर्फ फुल्लू की वर्चुअल पेशी आसनसोल स्पेशल कोर्ट में हुई। राज्य सीआइडी के वकील ने आरोपितों की सशरीर पेशी पर जोर देकर पांच साल पुराने मामले पर आरोप गठन करने की अदालत से गुहार लगाई। लेकिन बचाव पक्ष के वकील शेखर कुंडू एवं सोमनाथ चटराज ने कोरोना काल में अदालत से छूट मांगी एवं इस मामले को कोलकाता हाईकोर्ट में ले जाने की अर्जी दी। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात मामले की अगली तिथि 29 जनवरी 2022 को रखी। विदित हो कि 23 दिसंबर 2017 की सुबह तीन बाइक पर सवार होकर छह की संख्या में आए लुटेरों ने बंदूक के बल पर बर्नपुर रोड के मुथूट फाइनेंस में डकैती कर फरार हो गए थे। जनवरी 2018 में पटना एसटीएफ एवं राज्य सीआइडी ने पटना के राजीव नगर से पुलिस ने सुबोध सिंह एवं राजीव उर्फ फुल्लू सिंह को आठ किलो सोना एवं पिस्तौल समेत गिरफ्तार किया था। कानूनी जानकारों के अनुसार यदि 29 जनवरी 2022 को आसनसोल विशेष अदालत में आरोपितों पर आरोप गठित होता है तो आरोपितों को हर हाल में पटना के बेउर जेल से आसनसोल जेल में प्रोड्यूक्शन वारंट के आधार पर लाया जाएगा। आरोपितों के प्रोडक्शन वारंट के विषय में अभी अदालत का फैसला आना बाकी है।

Edited By: Jagran