उखड़ा : ईसीएल के सिदुली कोलियरी रिक्रेएशन क्लब प्रांगण में एटक संबद्ध कोलियरी मजदूर सभा की ओर से जयश्री एवं दीपचंद की 50वीं पुण्यतिथि मनाई गई। वर्ष 1970 में कोयला खदान के राष्ट्रीयकरण को लेकर आरसी सिंह के नेतृत्व में जामबाद में कंपनी मालिक के बंगले के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था। उसी समय कंपनी के गुंडों द्वारा आरसी सिंह पर गोली चलवा दी गई। उन्हें बचाने के दौरान जयश्री एवं दीपचंद की मौत हो गई थी। जबकि हरि राय नामक एक मजदूर के हाथ में गोली लगी थी, इस कारण दाहिना हाथ काटना पड़ा। इस कारण आज के दिन पुण्यतिथि पर सभा का आयोजन किया जाता है। मौके पर कोलियरी मजदूर सभा के महासचिव आरसी सिंह ने कहा कि जिस कोयला खदान को बचाने के लिए हजारों की संख्या में मजदूरों ने त्याग बलिदान किया। आज उसी कोयला खदान को केंद्र की मोदी सरकार निजीकरण की ओर ले जा रही है। देशी-विदेशी पूंजीपतियों के हाथों कोयला खदानों को बेचने जा रही है। जिसके खिलाफ एकजुटता से लड़ाई लड़नी होगी। कोयला उद्योग की रक्षा को 18 अगस्त को एक दिवसीय हड़ताल को सफल बनाना होगा। मौके पर अध्यक्ष प्रभात राय, गुरुदास चक्रवर्ती, शैलेंद्र सिंह, गोपाल शरण ओझा, रमेश सिंह, श्यामल चौधरी, अखिलेश कुमार सिंह, ओम प्रकाश तिवारी, प्रद्युत चक्रवर्ती, दिलीप दास मानिकपुरी, केदारनाथ पांडेय, राजेंद्र कुमार (राजू), अनिल कुमार, मंजू बोस आदि मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस