जागरण संवाददाता, आसनसोल : दुर्गापूजा के पहले राज्य सरकार ने आसनसोल वासियों को जिला कोर्ट के रूप में बड़ा तोहफा दिया। रविवार को आसनसोल में जिला कोर्ट का उद्घाटन कलकत्ता हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश ज्योतिर्मय भट्टाचार्या ने किया। आसनसोल जिला गठन के करीब 17 माह बाद आसनसोल में जिला कोर्ट खुला। इसके बाद आसनसोल पूर्ण जिला बना।

समारोह को संबोधित करते हुए हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश ज्योतिर्मय भट्टाचार्या ने कहा कि आसनसोल के प्रशासनिक रूप में जिला बनने के बाद जिला कोर्ट बनने में 17 माह का समय लगा। इसका कारण यहां बुनियादी सुविधाओं में कमी थी। लेकिन, अब जिला कोर्ट चालू होने से इस अंचल के लाखों लोगों को सुविधा होगी, यहां के लोगों अब 104 किमी दूर ब‌र्द्धमान नहीं जाना होगा। किसी भी नयी चीज को शुरू करने में थोड़ी परेशानी होती है, इसलिए सभी को सहयोग कर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य की निचली अदालतों में लगभग 25 लाख मामले लंबित पड़े हुए है। राज्य में 1013 कोर्ट है। केंद्र सरकार की ओर से यहां इन 1013 कोर्ट के अलावा अतिरिक्त 1773 कोर्ट बनाने का प्रस्ताव दिया गया है। फिलहाल एक जज को तीन जजों का काम करना पड़ रहा है। इससे पता चलता है कि जजों पर कार्य का कितना अधिक दबाव है। उन्होंने अपील किया कि न्यायालय में हड़ताल या सीज वर्क नहीं करें।

इस अवसर पर कलकत्ता हाईकोर्ट के न्यायधीश सब्यसाची भट्टाचार्या, न्यायधीश संजीव बनर्जी, राज्य के श्रम कानून एवं पीएचई मंत्री मलय घटक, जिला जज केडी भूटिया, डीएम शशांक सेठी, सीपी एलएन मीणा, आसनसोल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रणव दत्ता, सचिव वाणी मंडल समेत बड़ी संख्या में अधिवक्ता आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran