संवाद सहयोगी, उखड़ा : अंडाल ब्लाक तृणमूल कांग्रेस का कार्यकर्ता सम्मेलन एवं जिला नेतृत्व का सम्मान समारोह बुधवार को खांद्रा में था। इस सम्मेलन को लेकर तृणमूल कांग्रेस की अंदरूनी गुटबाजी खुलकर सामने आयी। जहां तृणमूल के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने रास्ते पर खड़ा होकर जिलाध्यक्ष विधान उपाध्याय के पहुंचने पर नारेबाजी की एवं ब्लाक अध्यक्ष कालोवरण मंडल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। यहां तक की सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को नहीं बुलाने का आरोप भी ब्लाक अध्यक्ष पर लगाया। हालांकि जिलाध्यक्ष ने स्पष्ट कहा कि पार्टी में गुटबाजी नहीं चलेगी।

बुधवार संध्या समय खांद्रा कम्युनिटी हाल में सम्मेलन था। जिसके लिए कई नेता हाल में थे। जबकि दर्जनों तृणमूल कार्यकर्ता हाल के बाहर सड़क पर जिलाध्यक्ष बिधान उपाध्याय का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही उनका काफिला दिखा, तृणमूल कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरु कर दी। ब्लाक अध्यक्ष को हटाने की मांग पर काफी संख्या में महिला पुरुष नारेबाजी करते रहे। कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष का वाहन रोक दिया। जिलाध्यक्ष भी गाड़ी से उतरे, जहां कार्यकर्ताओं ने उन्हें फूल का गुलदस्ता दिया एवं अपनी भड़ास निकाली। वे कार्यकर्ताओं को आश्वासन देकर सभागार में चले गए। जहां जिलाध्यक्ष के अलावा तृणमूल ट्रेड यूनियन के जिलाध्यक्ष अभिजीत घटक, विधायक तापस बनर्जी, जिला चेयरमैन उज्जवल चटर्जी, ब्लाक अध्यक्ष कालोवरण मंडल, युवा जिलाध्यक्ष कौशिक मंडल ने संबोधित किया।

ब्लाक अध्यक्ष करते आ रहे गुटबाजी, हमलोगों को नहीं बुलाया : जिलाध्यक्ष की गाड़ी रोककर विरोध प्रदर्शन करने वालों का नेतृत्व आशीष भट्टाचार्य और छोटन ने किया। उन्होंने कहा कि जिलाध्यक्ष से ब्लाक अध्यक्ष की शिकायत की है। वे धांधली में शामिल है। कुछ दिन पहले अंडाल में 72 लाख रुपया के घोटाला पोस्टर मिला था। वैसे ब्लाक अध्यक्ष के कारण पार्टी की छवि खराब हो रही है। पार्टी में रहकर हमेशा वो गुटबाजी करते आ रहे है। आज सम्मेलन में भी कई पंचायत सदस्यों, पंचायत समिति सदस्यों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को नहीं बुलाया गया, यह गुटबाजी नहीं तो और क्या है। ऐसे लोगों को जल्द पद से हटाना चाहिए।

पार्टी में सभी को लेकर चलना होगा :

जिलाध्यक्ष विधान उपाध्याय ने कहा कि पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 2021 के चुनाव में कुछ लोग दीवार थे, इधर जाएगा या उधर जाएगा। यहां फिर भी 10 हजार वोट से बढ़त मिली है। कुछ आदमी होता है, जो बदनाम करता है। कौन पोस्टर लगाया, यह मालूम है, छानबीन कर रहे है। जिनलोगों ने पार्टी से गद्दारी की है, उन्हें पार्टी से निष्कासित किया जाएगा। सिर्फ कुछ समय का इंतजार है। पार्टी में कोई बड़ा छोटा नहीं है, सबको मिलकर चलना पड़ेगा और आपस में तालमेल बनाए रखना होगा। आरोप सही प्रमाणित होने पर पार्टी से बाहर भी कर दिया जाएगा। तृणमूल को जो प्यार करते है, वे सम्मान कर रहे है। किसी कारण से उन्हें बुलाया नहीं गया। सभी को लेकर चलना होगा। कोई अकेला चलने की कोशिश करेगा, उसे अकेला रहना होगा।

मेरे ऊपर लगा आरोप सही हुआ तो चार गुना देने को तैयार : अंडाल ब्लाक अध्यक्ष पर धांधली को लेकर कुछ दिनों पहले पोस्टर मिला था। वहीं विभिन्न विषयों को लेकर कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष के सामने नारेबाजी की। जिस पर कालोवरण मंडल ने भी सफाई दी। उन्होंने कहा कि अगर मेरे ऊपर लगा आरोप सही प्रमाणित होता है तो मैं चार गुना देने को तैयार हूं। मैं आरंभ से ही पार्टी का रहा हूं। कुछ लोग पार्टी में फूट डालने की मंशा से इस प्रकार की साजिश कर रहे है। मुझे बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। जिलाध्यक्ष के समक्ष मेरे खिलाफ झूठी शिकायत कर मुझे बदनाम करने की कोशिश की गई है।

Edited By: Jagran