आसनसोल : मताधिकार के प्रति जागरूकता व मत प्रतिशत बढ़ाने के उद्देश्य से चुनावों में आदर्श मतदान केंद्र की व्यवस्था की जाती है।

जहां आकर्षक साज-सज्जा के साथ मताधिकार का प्रयोग करने वाले मतदाताओं के लिए कुछ खास उपहार देने की व्यवस्था भी जिला प्रशासन करता है। लेकिन इस बार के विधानसभा चुनाव में पश्चिम ब‌र्द्धमान जिले की नौ सीटों पर मतदान के लिए बनाए गए 3064 मतदान केंद्रों में एक भी आदर्श मतदान केंद्र नहीं है। हालांकि जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि सभी मतदान केंद्रों पर पानी, शौचालय व बिजली सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं का पूरा इंतजाम रहेगा। ताकि मतदाता व मतदान कर्मियों को किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो। कहा कि कोरोना को लेकर जो भी दिशा निर्देश है उसका पालन किया जाएगा। मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार में शारीरिक दूरी का अनुपालन हो, इसके लिए आवश्यक दूरी पर गोल घेरा बनाया जाएगा। मास्क, सैनिटाइजर व ग्लब्स की व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा पोलिग पार्टी को भी मास्क व सैनिटाइजर दिया जाएगा। कोविड-19 को देखते हुए जहां बीते लोकसभा चुनाव में 2446 मतदान केंद्र थे, वहीं इस बार 618 बूथ बढ़ाकर 3064 कर दिया गया है। जिन मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या 1400 से अधिक थी, उसे तोड़कर अलग केंद्र बनाया गया है। ताकि मतदाताओं की संख्या सीमित हो सके। शांतिपूर्ण मतदान के लिए 3064 मतदान केंद्रों पर 14,529 मतदान कर्मियों को प्रतिनियुक्त किया गया है, जिसमें 2255 महिला मतदान कर्मी हैं। सातवें चरण में 26 अप्रैल को जिले की नौ विधानसभा सीटों के लिए होने वाले मतदान को लेकर सभी आवश्यक तैयारियां अंतिम चरण में है।

Edited By: Jagran