Pitru Paksha 2022 : सर्वपितृ अमावस्या के दिन करें ये उपाय


By Shantanoo Mishrajagran.com

सर्वपितृ अमावस्या 2022 तिथि

हिन्दू पंचांग के अनुसार इस वर्ष सर्वपितृ अमावस्या 25 अक्टूबर के दिन पड़ रहा है। इस दिन सभी श्राद्ध कर्म करने के पश्चात पितरों को सम्मानपूर्वक विदा किया जाता है।

इस तरह करें तर्पण

यदि आप पितृ पक्ष में किसी कारण से तर्पण या श्राद्ध कर्म नहीं पाएं हैं तो इस दिन जल के पात्र में तिल डालकर पितरों का स्मरण करते हुए तर्पण करें। इससे आपको बहुत लाभ मिलेगा।

करें इन चीजों का दान

अमावस्या के दिन दान का बहुत महत्व है। इसलिए इस दिन मंदिर में चावल, नमक, आटा, गुड़ उड़द दाल और घी का दान करें। ऐसा करने से जीवन में शांति बनी रहती है।

कराएं ब्राह्मण भोजन

पितृ पक्ष में ब्राह्मण भोजन का भी महत्व सबसे अधिक है। ऐसा करने पितर प्रसन्न होते हैं। इसलिए सर्वपितृ अमावस्या के दिन ब्राह्मण भोजन करें और सामर्थ्य अनुसार दक्षिणा देकर विदा करें।

गाय खिलाएं ये चीज

पितरों को प्रसन्न करने के लिए और घर में हर तरफ शांति के लिए गाय को घी और गुड़ से बनी रोटी अवश्य खिलाएं। ऐसा करने से पितृ दोष से मुक्ति मिलती है।

करें इस मंत्र का जाप

पितृभ्य:स्वधायिभ्य:स्वधा नम:। पितामहेभ्य:स्वधायिभ्य:स्वधा नम:। प्रपितामहेभ्य:स्वधायिभ्य:स्वधा नम:। सर्व पितृभ्यो श्र्द्ध्या नमो नम:।।

सर्वपितृ अमावस्या 2022 मुहूर्त

सर्वपितृ अमावस्या तिथि: 25 सितंबर 2022, रविवार सर्वपितृ अमावस्या आरम्भ: 25 सितंबर 2022, रविवार, सुबह 03:11 से अमावस्या तिथि समाप्त: 26 सितंबर 2022, सोमवार, सुबह 03:22 पर