लंबे समय से वैज्ञानिक सूर्य के बारे में जानकारी हासिल कर रहे हैं । हाल ही में सूर्य को लेकर एक नई खोज हुई है ।दरअसल जापान के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने सबसे ताकतवर सौर चुंबकीय क्षेत्र का पता लगाया है। हिनोद अंतरिक्ष यान से मिले डाटा के विश्लेषण से वैज्ञानिक इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि यह चुंबकीय क्षेत्र एक सौर धब्बे से दूसरे सौर धब्बे की ओर गैस के प्रवाह का परिणाम है। इन् सूर्यधब्बों को सनस्पॉट भी पुकारा जाता है । जापान की राष्ट्रीय खगोल विज्ञान वेधशाला के जॉटन ओकामोटो कहते हैं कि हिनोद से भेजे गए हाई रिजोल्यूशन डाटा से हम सनस्पॉट की विस्तृत जानकारी का विश्लेषण कर सके। इससे हम सूर्य के ताकतवर चुंबकीय क्षेत्र और उसके क्रमिक विकास के साथ आसपास के वातावरण का बेहतर विश्लेषण कर सके। अब कह सकते हैं कि सूर्य की सतह पर ताकतवर चुंबकीय क्षेत्र बनने की प्रक्रिया की गुत्थी सुलझ गई है।