यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के एक साल पूरा होने के अवसर पर दैनिक जागरण के संपादक मंडल से विशेष बातचीत की। इस मुलाकात में सीएम योगी ने सवालों के जवाब सिलसिलेवार और खुशगवार अंदाज में दिए। इस दौरान उन्होंने उपचुनाव के नतीजों पर कहा कि गोरखपुर और फूलपुर की हार अप्रत्याशित है। अति आत्मविश्वास का एक सबक भी है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मैं गोरखपुर में सवा तीन लाख मतों से जीता और 2017 में पांच विधानसभा क्षेत्रों में हमारे विधायक चुने गए। उपचुनाव में गोरखपुर की दो विधानसभा क्षेत्रों में हमारी पार्टी को 2017 से ज्यादा वोट मिले, लेकिन अति आत्मविश्वास के कारण तीन क्षेत्रों में मत घटे। जहां भी मैं जाता था लोग उत्साहित थे और संगठन से भी अ'छी रिपोर्ट मिली थी, लेकिन दुर्भाग्य उसी दौरान हमारा उम्मीदवार बीमार पड़ गया। 25 फरवरी से पांच मार्च तक वह लखनऊ में एसजीपीजीआई में भर्ती थे और क्षेत्र में नहीं जा सके। दरअसल, कार्यकर्ताओं को आत्मविश्वास था कि सीएम, डिप्टी सीएम की सीट है तो हारेंगे नहीं।