भारत के इतिहास को उज्जवल और गरिमामय बनाने में भारत के राज्य मध्य प्रदेश का काफी महत्वपूर्ण योगदान है। भारतीय संस्कृति को दर्शाता मध्य प्रदेश राज्य का ऐसा ही एक शहर है उज्जैन...शिप्रा नदी के किनारे बसे उज्जैन की पहचान देश के सांस्कृतिक धरोहर के रूप में है। इस नगर का धार्मिक महत्व तो है ही पर भारत के प्राचीन गौरवशाली इतिहास का सांस्कृतिक खज़ाना भी यहां बसता है। यहां बड़े गणेशजी का मंदिर, मंगलनाथ मंदिर यहां के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों में से एक है। महाकवि कालिदास ने अपनी श्रेष्ठ रचना 'मेघदूत' में उज्जैन का बहुत ही सुंदर वर्णन किया है। उन्होंने लिखा है कि उज्जैन भारत का वह प्रदेश है जहां के गांव में बसे बडे-बुढे लोग खुशी और प्रेम की गाथा सुनाते हैं।