माननीयों के अपराध का लेखा-जोखा राजनीति को अपराधमुक्त बनाने की उम्मीद को धराशायी करता दिखता है। देशभर में 1765 सांसदों और विधायकों के खिलाफ 3045 आपराधिक मुकदमे लंबित हैं। दागी माननीयों के मामले में उत्तर प्रदेश अव्वल है, जबकि तमिलनाडु दूसरे नंबर पर और बिहार तीसरे नंबर पर है। ये आंकड़े केंद्र सरकार ने देशभर के हाई कोर्टो से एकत्र करके सुप्रीम कोर्ट में पेश किए हैं। वैसे कुल आपराधिक मामले 3816 थे जिनमें से 771 का निपटारा हो चुका है। केंद्र सरकार ने हलफनामा दाखिल कर ये आंकड़े सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पेश किए हैं। कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा था कि वह 2014 में नामांकन भरते समय आपराधिक मुकदमा लंबित होने की घोषणा करने वाले विधायकों और सांसदों के मुकदमों की स्थिति बताए। सरकार बताए कि इनमें से कितनों के मुकदमे सुप्रीम कोर्ट के 10 मार्च 2014 के आदेश के मुताबिक एक वर्ष के भीतर निपटाए गए।