अपनी सरकार के एक साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास गिनाने को बहुत कुछ है, लेकिन उप चुनाव की हार का कसक भी। हालांकि योगी आदित्यनाथ उप चुनाव के परिणाम को बहुत महत्व न देते हुए अपनी उपलब्धियों पर ही फोकस करते हैं। कहते हैं-'उत्तर प्रदेश में सांस्कृतिक धरोहरों के रूप में बड़ी संभावनाएं हैं। अयोध्या, मथुरा और काशी को ही यदि पर्यटन के नजरिए से बढ़ाया जाए तो ये पूरे प्रदेश को बदल देंगे। मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों से हमारे ये नगर आगे निकल जाएंगे।' अपने पांच कालिदास मार्ग स्थित आवास पर मुख्यमंत्री ने रविवार दोपहर दैनिक जागरण की संपादकीय टीम के साथ लंबी बातचीत में कहा कि सरकार की यह बड़ी उपलब्धि है कि वह उत्तर प्रदेश के प्रति धारणा बदलने में सफल हुई है। योगी आदित्यनाथ इस बात से आश्वस्त हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार ने एक साल में ही विकास के लिए जरूरी आधार खड़ा कर दिया है।