विराट कोहली की कप्तानी में इंग्लैंड में पहली बार टी-20 सीरीज जीतने के बाद टीम इंडिया के हौसले बुलंद हैं। ऐसे में उसकी नज़र अब वनडे सीरीज और टेस्ट सीरीज पर है। इंग्लैंड दौरे पर गई टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ी चुनौती पांच मैचों की टेस्ट सीरीज है जोकि 1 अगस्त से शुरू होनी है। दक्षिण अफ्रीका में किए गए शानदार प्रदर्शन के बाद विराट कोहली और उनकी टीम का मनोबल काफी बढ़ गया था और वो अब इंग्लैंड टीम पर फतह करने के इरादे से मोर्चा संभालेंगे। भारत को इंग्लैंड में पिछली दो टेस्ट सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था। साथ ही 2014 में हुई टेस्ट सीरीज को विराट कोहली कभी भी याद नहीं रखना चाहेंगे, क्योंकि उनका प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा था। कप्तान विराट पर इस बार अपने प्रदर्शन से टीम के खिलाड़ियों को प्रेरित करने की जिम्मेदारी भी रहेगी। क्रिकेट से इतर अगर बात फुटबॉल की करें तो फीफा विश्वकप में क्रोएशिया ने इतिहास रच दिया है।