मान्यता है कि संतोषी माता गणेश जी और रिद्धी-सिद्धि की पुत्री हैं, हालांकि इस बात का जिक्र किसी पुराण में नहीं है। संतोषी माता को "संतोष" की देवी माना जाता है, यह जिन पर प्रसन्न होती हैं उसके जीवन में सभी प्रकार के सुख आते हैं और वह जीवन में संतुष्ट रहता है। संतोषी माता का एक ऐसा मंत्र है जिसके 108 बार जाप करने से या कम से कम तीन बार सुनने से जीवन में सुख-शांति आती है और सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। तो सुनते हैं ये मंत्र.....