प्रभु वेंकटेश्वर या बालाजी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है और विष्णु को संसार का स्वामी माना गया है। आंध्रप्रदेश में तिरुपति के समीप भगवान बालाजी का मंदिर सप्तगिरि की सातवीं पहाड़ी पर स्थित है। वैकुंठ एकादशी के अवसर पर लोग यहाँ पर प्रभु के दर्शन के लिए आते हैं। मान्यता है कि यहाँ आने के पश्चात व्यक्ति को जन्म-मृत्यु के बंधन से मुक्ति मिल जाती है। भगवान बालाजी के मंत्र का भी काफी महत्ता है। जिसे सुनने से जीवन में प्रगति का द्वार खुलता है और व्यापार-रोजगार में उन्नति होती है। तो आइए सुनते है इस मंत्र को...