जहां चाह, वहां राह।मध्यप्रदेश के सतना जिले के परसदिया गांव के लोगों ने इस कहावत को सच कर दिखाया है। सालों से सरकार से मदद नहीं मिली तो ग्रामीणों ने अपनी मुश्किलें कम करने के लिए खुद ही कदम उठाए और 20 फुट ऊंचा पुल बना डाला। झिलवा नदी पर बांस का पुल बनाकर ग्रामीणों ने अपने लंबे सफर को छोटा करने का काम किया है। सतना के इस गांव के लोगों ने जैतवारा तहसील से अपने गांव के बीच की करीब 8 किलोमीटर की दूरी को एक बांस का पुल बनाकर कई गुना कम कर दिया। यह दूरी अब महज आधे किलोमीटर की रह गई है। ग्राणीम कई वर्षों से प्रशासन से मदद मांग रहे थे। तहसील तक पहुंचने के लिए नदी का रास्ता ही एकमात्र रास्ता था। कोई सड़क नहीं है। इस पुल के बनने से बच्चों का स्कूल जाना भी थोड़ा आसान हो गया है।