पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे सिंधिया ने अनुच्छेद 370 को लेकर कहा है कि तब के प्रधानमंत्री रहे पं. जवाहरलाल नेहरू ने सिर्फ शेख अब्दुल्ला से दोस्ती निभाने के लिए इसे लागू किया था। वर्ष 1991 में जब हम एकता यात्रा के लिए कश्मीर गए थे तो हमें कड़ी सुरक्षा में श्रीनगर ले जाया गया। रातभर वहां गोलियां चलती रहीं। एेसे हाल थे हमारे उस कश्मीर के जिसे हम भारत का अभिन्न अंग कहते रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने 370 और 35 ए को हटाकर उस सपने को साकार कर दिया है, जिसे डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी से लेकर जनसंघ और भाजपा का हर कार्यकर्ता दशकों से देखता रहा है।