केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर मंगलवार को तीखा हमला बोलते हुए नेशनल हेराल्ड मामले में जवाब मांगा है। उन्होंने कहा है कि राहुल और सोनिया गांधी दोनों ही सवालों के घेरे में हैं।
इरानी ने कहा कि कल कांग्रेस पर गिरा पर्दा उठ गया। रघुराम राजन का बयान स्पष्ट करता है कि बढ़ी हुई एनपीए के लिए कांग्रेस ही जिम्मेवार है। उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा और सोनिया गांधी टैक्‍सपेयर्स का धन गड़बड़ करना चाहते थे। इरानी ने आरोप लगाया कि यूपीए अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने ऐसे सरकार का नेतृत्‍व किया जिसने भारतीय बैंकिंग व्‍यवस्‍था पर हर दिशा से हमला किया। रघुराम राजन ने कहा कि 2006-08 के बीच यूपीए के कामकाज से भारत के बैंकिंग स्‍ट्रक्‍चर में एनपीए को बढ़ा दिया।

मुख्यालय से लगभग 30 किलोमीटर दूर भैंसियाछाना ब्लाक के गांव दसौं में एक ही परिवार के सगे भाइयो में पारिवारिक कलह इस हद तक बढ़ गया कि छोटे भाई ने बड़े भाई व उसके परिजनों पर तेजाब से हमला कर दिया, यही नहीं बाद में खुद पर भी तेजाब उड़ेल लिया। सभी को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें दो बच्चे भी शामिल हैं। घायलों में दो की हालत नाजुक होने पर उन्हें हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल को रेफर कर दिया गया है। तेजाब डालने वाले को भी अल्मोड़ा के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

बाइक सवार दो अपराधी आए और एक महिला से गले की चेन झपटकर निकल भागे। घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। अब पुलिस वीडियो फुटेज के आधार पर अपराधियों की खोज में लगी है। घटना पटना के आशियाना-दीघा रोड पर डॉन बॉस्को स्कूल के निकट बीते दिनों हुई। अब इसका फुटेज सोशल मीडिया में वायरल हो गया है। जानकारी के अनुसार काले रंग की पल्सर बाइक पर सवार दो युवक सड़क किनारे एक महिला के पास आए और उसकी चेन झपटकर निकल भागे। पीडि़त महिला एक स्‍कूल में शिक्षिका है। घटना तब हुई, जब स्कूल की छुट्टी के बाद शिक्षिका घर जाने के लिए सड़क के किनारे निकली थी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए बेहतर कार्य करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मुख्य सेविकाओं से बातचीत की। मोदी ने इस दौरान इन कार्यकर्ताओं की जमकर तारीफ की। मोदी ने कहा कि इस देश का प्रधानमंत्री कह सकता है कि उसके लाख हाथ हैं और ये आप सब हैं।

लंबे समय से अमेरिका समेत अन्‍य देश शिकायत करते आए हैं कि पाकिस्‍तान आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह उपलब्‍ध कराता है और अफगानिस्‍तान में सीमा पार हमलों की अनुमति देता है। हालांकि इस्‍लामाबाद खुद पर लगे इन आरोपों से इंकार करता आया है।ट्रंप के वरिष्‍ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया, ‘अमेरिका ने पाकिस्‍तान में नई सरकार से कहा है कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध आतंकवाद के खिलाफ उसकी कार्रवाई पर निर्भर करता है।