1. येद्दयुरप्पा बने कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री, अब सदन में बहुमत साबित करने की है चुनौती
कर्नाटक में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच गुरुवार की सुबह बीएस येद्दयुरप्पा को राज्यपाल वजुभाई वाला ने मुख्‍यमंत्री पद की शपथ दिलाई। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, धर्मेंद्र प्रधान और प्रकाश जावड़ेकर राजभवन में मौजूद रहे। बतौर मुख्‍यमंत्री येद्दयुरप्पा की यह तीसरी पारी है। हालांकि, येद्दयुरप्पा ने आज अकेले ही शपथ ली। माना जा रहा है कि सदन में बहुमत साबित होने के बाद अन्‍य मंत्री भी शपथ लेंगे। अब मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती है।

2. कर्नाटक के सियासी ड्रामे के बीच आधी रात को खुला सुप्रीम कोर्ट
कर्नाटक में चुनावों के नतीजे आने के बाद भी सियासी उठापटक जारी है। सरकार बनाने के दावे को लेकर मची होड़ के बीच कांग्रेस और जेडीएस आधी रात को सुप्रीम कोर्ट पहुंचे, लेकिन राज्यपाल के बाद उन्हें सुप्रीम कोर्ट से भी निराश होकर लौटना पड़ा। दरअसल, कांग्रेस और जेडीएस की येद्दयुरप्‍पा के मुख्यमंत्री पद की शपथ को रोकने की मांग को सुप्रीम कोर्ट ने ठुकरा दिया और मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार निर्धारित की। 

3. विधायकों की संख्या में ऐतिहासिक ऊंचाई पर भाजपा, 'स्वर्णिम काल अब भी बाकी है...
कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी भले ही बहुमत के आंकड़े से थोड़ा दूर रह गई हो, लेकिन पूरे देश की बात की जाए तो भाजपा के पास बहुमत है। इस वक्त करीब-करीब पूरे देश पर भाजपा या उसके सहयोगी दलों का राज है। कांग्रेस इस वक्त अपने इतिहास के सबसे कमजोर स्थिति में है। भाजपा इसके उलट सबसे मजबूत पार्टी के तौर पर स्थापित हो गई है।आंकड़ों की भाषा में बात करें तो इस वक्त पूरे देश में कांग्रेस के मात्र 727 विधायक हैं। जबकि भाजपा के पास पिछले ढाई दशक के मुकाबले सबसे ज्यादा 1518 विधायक हैं।

4. सीमा पर पाक की भारी गोलाबारी, एक नागरिक व 2 बीएसएफ जवान जख्मी
पाकिस्तान द्वारा लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन जारी है। एक तरफ तो भारत सरकार ने रमजान के पाक महीने में एलओसी पर संघर्ष विराम की घोषणा की है। वहीं दूसरी तरफ पकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा। बुधवार को रात भर पाकिस्तानी रेंजर्स ने भारतीय चौकियों और रिहायशी इलाकों में जमकर गोलाबारी की। पाकिस्तान की इस बेहूदा हरकत से कई भारतीय चौकियां क्षतिग्रस्त हो गईं और बीएसएफ के 2 जवान भी जख्मी हो गए। हालांकि पाक की इस हरकत का बीएसएफ ने मुहतोड़ जवाब दिया है।

5. दिल्ली समेत कई राज्यों में 3 दिनों तक आंधी-तूफान का खतरा
पिछले एक पखवाड़े से रह-रहकर आंधी-तूफान का सामना कर रहे दिल्ली-एनसीआर पर खतरा टला नहीं है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ के चलते आंधी-तूफान का खतरा टला नहीं है। आगामी तीन दिनों के दौरान दिल्ली-एनसीआर के साथ देश के कई राज्यों में आंधी-तूफान आ सकता है। देश के कई हिस्सों में शुक्रवार तक और ज्यादा आंधी-तूफान आने के आसार बन रहे हैं।