मेघालय में 27 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए जोरशोर से प्रचार जारी है। भाजपा पूर्वोत्तर इलाके के इस महत्वपूर्ण राज्य में केसरिया झंडा फहराने की तैयारी में है। मेघालय, भाजपा के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले 15 साल से कांग्रेस का रथ निर्बाध दौड़ता रहा है।60 सदस्यीय विधानसभा के लिए कुल 374 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर है। कांग्रेस जहां सभी 60 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, वहीं वहीं एनपीपी 52, भाजपा 47, पीपल डेमोक्रेटिक फ्रंट 26, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी 21, यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी 13, हिल स्टेट पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी 13 और दूसरी पार्टियां चुनावी मैदान में हैं। इस चुनाव में 85 निर्दलीय और 33 महिला प्रत्याशी भी अपनी किस्मत आजमां रही हैं। ये चुनाव न केवल कांग्रेस के लिए लिटमस टेस्ट की तरह है बल्कि भाजपा किसी भी सूरत में इस पहाड़ी राज्य में केसरिया झंडा फहराने की कोशिश में है। हालांकि भाजपा ने तय किया है कि पार्टी चुनाव पूर्व या बाद में किसी दल से गठबंधन नहीं करेगी। भाजपा अपने बलबूते पर चुनावी मैदान में है।