गुजरात का सूरत क्षेत्र जिसे देश में 'डायमंड का सबसे बड़ा केंद्र' माना जाता है, आज वहां के हीरे के कारीगर बेरोजगार हैं. यहां सूरत डायमंड एसोसिएशन के सर्वे में ये पता चला है कि 13,000 तक हीरे के कारीगर काम पगार पर छोटे पैमाने पर काम करने को मजबूर हैं क्यूंकि उनके पास कोई रोजगार नहीं है. बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 5 जुलाई को बजट पेश करते दौरान उन्होंने कस्टम ड्यूटी में वृद्धि कि घोषणा कि जिससे हीरा व्यापारी बेहद नाखुश हुए क्यूंकि सरकार के इस फैसले से जवाहरात और भी महंगे हो जायेंगे और उनके व्यापार पर इससे बहुत असर पड़ेगा.