समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव अपने भाई मुलायम सिंह यादव और अपने भतीजे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को झटका दिया है।जहां एक तरफ मुलायम सिंह यादव अखिलेश यादव और शिवपाल यादव को फिर से एक साथ लाने की कवायद में जुटे थे उस कोशिश पर शिवपाल ने पानी फेर दिया है। शिवपाल यादव ने शुक्रवार अपनी 'घर वापसी' की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि उनकी पार्टी का किसी भी राजनीतिक दल में विलय की कोई संभावना नहीं है और हमने तय किया है कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव  जोरदार तरीके से लड़ेंगे।अखिलेश की समाजवादी पार्टी में वापसे से इनकार के साथ ही शिवपाल यादव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खबू तारीफी भी की है। शिवपाल ने योगी को बेहद ईमानदार और मेहनती बताया है।