राजस्थान के बाड़मेर जिले के जसोल गांव में रविवार 23 जून को एक पंडाल के गिरने से 14 लोगों की मौत हो गयी. ये हादसा तब हुआ जब रविवार दोपहर बालोतरा कस्बे के जसोल गांव में एक स्कुल में राम कथा चल रही थी जिस दौरान तेज आंधी और बारिश ने पंडाल को हिला दिया और वो श्रद्धालुओं पर गिर गया. जब ये  श्रद्धालु बहार नहीं निकल पाए तब इस हादसे में इन लोगों ने अपनी जान गवा दी. इस हादसे में कई लोग घायल हैं. इस हादसे के बाद राजस्थान सरकार ने मृत लोगों के परिजनो के लिए 5 लाख रूपए की राशि और जो लोग घायल हुए हैं उनको 2 लाख रूपए की राशि की घोषणा की है. राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोट परिस्तिथि का जायजा लेने के लिए हादसे की जगह पर पहुंचे और उन्होंने जांच के आदेश दिए. इस हादसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई मंत्रियों ने शोक प्रकट किया.   इस हादसे के बाद बाड़मेर के सांसद कैलाश चौधरी ने अस्पताल का दौरा कर हादसे में घायल लोगों की हालत का जायजा लिया और अस्‍पताल पहुंचकर पंडाल हादसे में घायलों का हालचाल जाना. कैलाश चौधरी ने अपना दुख व्यक्त करते हुए बताया की उन्होंने इस हादसे के बारे में अमित शाह से  सहायता के लिए बात की.