गर्मियों का मौसम आते हैं लोग खाने से ज्यादा पेय पदार्थों पर ध्यान देते हैं। शरबत, लस्सी और पानी गर्मियों में अमृत की तरह काम करते हैं। लेकिन अगर इन पेय पदार्थों में ठंडापन न हो तो गर्मियों में सारा मजा किरकिरा हो जाता है। खासकर पानी...चिलचिलाती गर्मी में अगर ठंडा पानी न मिले तो हालत की कुछ ज्यादा ही खराब होने लगती है। अक्सर तपती दोपहरी में सूखे गले को तर करने के लिए ठंडे पानी की तलाश में लोगो को अपनी जेबे ढीली करनी पड़ती है और अगर आप रेल से सफर कर रहे हो तब तो ये परेशानी और भी ज्यादा परेशान करने वाली होती है। लेकिन रेल यात्रियों की जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे के मुरादाबाद मंडल ने सूर्य ऊर्जा से पानी को ठंडा करने की योजना बनाई है योजना के जरिये सोलर पैनल लगाकर इसे वाटर कूलर से जोड़ा जायेगा। अगर ये योजना सफल रही तो बाद में इसे सभी मंडलों में लागू किया जाएगा।