प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव कराने के मुद्दे पर सभी पार्टियों के अध्यक्षों की बुधवार को एक बैठक बुलाई है जिसमे कई पार्टियों ने शामिल होने से इंकार कर दिया है. इनमे से एक है ममता बनर्जी की टीएमसी, टीडीपी और अब इसमें शामिल होने के कांग्रेस के भी आसार कम ही नजर आ रहे हैं. बता दें की लॉ कमीशन ने एक ड्राफ्ट के जरिये ये बताया की लोकसभा और विधानसभाओं में एक साथ मतदान आयोजित करना देश को निरंतर चुनाव मोड से रोकने के लिए एक समाधान है। वे इस तर्क से सहमत था कि एक साथ चुनाव कराने से जनता के पैसे बचाने में मदद मिलेगी प्रशासन पर बोझ कम होगा. वहीं इस मुद्दे पर बीजेपी ने इससे सहमति जताई और कहा किये जरूरी है. वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ने इसकी निंदा करते हुए कहा की इसको लागु करना मुश्किल होगा और कांग्रेस के नेता गौरव गोगोई ने कहा की कांग्रेस इसमें हिस्सा नहीं लेगी.