बिहार में पिछले कई दिनों से एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम यानी चमकी बुखार ने पूरे प्रदेश के स्वास्थय पर घात किया है. गौरतलब है की सोमवार को नीति आयोग ने 'देश के स्वास्थ्य' पर एक रिपोर्ट जारी की है जिसमे बिहार समेत उत्तर प्रदेश स्वास्थय के मामले में फिसड्डी साबित हुए जबकि केरल आखरी पायदान से सीधा पहले पायदान पर पहुंचा. 'स्वस्थ राज्य प्रगतिशील भारत' के दुसरे प्रकाशन में इंक्रीमेंटल रैंकिंग यानी पिछली बार के मुकाबले सुधार के मामले में 21 बड़े राज्यों की सूची जारी की है. इस बारे में निति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने बताया की ये रैंकिंग सभी स्तरों पर राज्यों की प्रगति को दर्शाता है और इसमें इंक्रीमेंटल रैंकिंग जरूरी है. वहीं दूसरी तरफ आयोग के हेल्थ एडवाइजर अलोक कुमार ने बताया की रैंकिंग की इस प्रणाली में राज्यों को 23 इंडीकेटर्स में बांटा है जिसमे 21 बड़े राज्य, केंद्र शासित प्रदेश और नार्थ ईस्ट के राज्य शामिल हैं.