एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ देशभर के कई राज्यों में सवर्ण लामबंद होने लगे हैं। इस एक्ट में किए गए संशोधन को लेकर कई संगठनों ने आज भारत बंद बुलाया है। बंद का सबसे ज्यादा असर एमपी और बिहार में देखा जा रहा है। फिलहाल, सरकार ने एहतियात के तौर पर मध्य प्रदेश के जिलों में धारा 144 लागू कर दी है। इसके अलावा पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया है और भारत बंद के मद्देनजर ग्वालियर के सभी स्कूल और कॉलेज को बंद रखने के निर्देश जारी किए हैं।

चुनावी साल में गरीबों को तोहफा देते हुए सरकार ने 'प्रधानमंत्री जन-धन योजना' के तहत पांच हजार रुपये के ओवरड्राफ्ट की सुविधा को दोगुना कर 10,000 रुपये कर दिया है। साथ ही इस योजना के तहत अब प्रत्येक परिवार की जगह प्रत्येक वयस्क व्यक्ति का खाता खोलने पर जोर दिया जाएगा। जो भी नए खाते खुलेंगे उन्हें दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलेगा।

असम के उत्तरी गुवाहाटी में एक बड़े हादसे की खबर है जहां यात्रियों से भरी एक मोटरबोट ब्रम्हपुत्र नदी में पलट गई है। बताया जा रहा है कि इस नाव में क्षमता से ज्यादा यात्री सवार थे। जिनमें से 2 की मौत हो गई है, जबकि 26 के करीब लोग लापता हैं। खबर मिलने के बाद पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें मौके पर पहुंच गई हैं, राहत और बचाव का काम युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया गया है। 

खुले बाजार में दाल बेचने के अपने पूर्व के फैसले से पलटते हुए केंद्र सरकार ने अब राज्यों को सस्ती दर पर बेचने का फैसला किया है। ज्यादातर राज्य रियायती दर वाली दालें खरीदने पर राजी हो गए हैं, लेकिन सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश ने बड़े नानुकूर के बाद मुट्ठीभर दाल खरीदने की हामी भरी है। सरकारी गोदामों में फिलहाल 50 लाख टन से अधिक दालें पड़ी हुई हैं, जिन्हें तत्काल बेचने की जरूरत है।

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल एक बार फिर आतंकी हमले से गूंज उठी है। बुधवार को काबुल में हुए दो धमाकों में 20 लोगों की मौत हो गई, जबकि 70 लोग घायल हो गए। पहला आत्मघाती हमला एक कुश्ती क्लब को निशाना बनाकर किया गया। दूसरे धमाके के निशाने पर पीड़ितों की सहायता करने वाली आपातकालीन सेवाएं और पत्रकार थे। फिलहाल शिया बहुल दश्त-ए-बर्ची पर हुए हमले की किसी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है।