भारत समेत दुनिया भर में आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का स्वागत किया गया है। हालांकि, इसको लेकर संदेह भी जताया गया है कि क्या इस कदम से पाकिस्तान पर आतंकवाद को अपनी राष्ट्र नीति के तौर पर इस्तेमाल करने से रोकने में मदद मिलेगी। दुनिया भर के देशों ने मसूद पर पाबंदी लगाने का स्वागत किया है। अमेरिका ने कहा कि जैश पहले से ही संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकी समूहों में शामिल था और उसका सरगना होने के नाते मसूद अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किए जाने के मापदंड में बिल्कुल फिट बैठता था। ब्रिटेन के विदेश और राष्ट्रमंडल दफ्तर ने कहा कि मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किया जाना दक्षिण एशिया के लिए सकारात्मक कदम है।