नई दिल्ली: आज आपातकाल की 44 बरसी है। 25 जून 1975 को प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कहने पर आपातकाल लागू किया गया था। इस घटना को आज पूरे 44 साल हो गए हैं। आपातकाल की बरसी के मौके पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल को सूपर इमरजेंसी करार दिया है।

ममता बनर्जी ने लिखा कि आज 1975 में घोषित इमरजेंसी की बरसी है। पिछले पांच सालों से देश 'सुपर इमरजेंसी' से गुजर रहा है। हमें अपने इतिहास से सबक सीखना चाहिए और देश में लोकतांत्रिक संस्थानों की रक्षा के लिए संघर्ष करना चाहिए। दूसरी तरफ, आपातकाल की बरसी के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि देश उन लोगों को सलाम करता है, जिन्होंने निडर होकर आपातकाल का विरोध किया था।

ममता बनर्जी के पीएम मोदी के पहले कार्यकाल को सुपर इमरजेंसी करार देने को लेकर केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा ... ममता बनर्जी क्या कहती हैं और क्या नहीं कहती हैं उनके बयान को अब कोई सीरियस नहीं लेता है। दूसरी ओर ममता बनर्जी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल को लेकर किए गए विवादित ट्वीट पर बीजेपी भी हमलावर हो गयी है...इस क्रम में मुंबई नॉर्थ सेंट्रल से लोकसभा भाजपा सांसद और भाजपा युवामोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम महाजन ने ममता बनर्जी पर तीखा हमला बोला है. उन्होंने कहा ममता दीदी का ऐसा बयान देना बहुत दुखद और वह ऐसे बयान इसलिए दे रहीं हैं क्योंकि उनके हाथ से पश्चिम बंगाल सत्ता को निकल रही है।

ममता बनर्जी और भारतीय जनता पार्टी के बीच हालात सामान्य नहीं हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई हालिया सर्वदलीय बैठकों में भी ममता बनर्जी नहीं गईं। यहीं नहीं न ही ममता नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुईं और न ही 15 जून की नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लिया।

25 जून के दिन ही प्रधानमंत्री अंदिरा गांधी ने 1975 से 1977 तक 21 महीने के लिए देश में आपातकाल घोषित किया था। संविधान के अनुच्छेद 352 के तहत राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद द्वारा आपतकाल लागू किया गया था।