Surat (Gujarat): नवरात्र में पूरे नौ दिन तक मां के नौ रूपों की पूजा अर्चना होती है। वैसे तो देश के हर कोने में नवरात्र का पर्व हर्षोल्लास और भक्तिभाव के साथ मनाया जाता है लेकिन पश्चिमी बंगाल में दुर्गा पूजा की रौनक ही कुछ अलग होती है पूरे वर्ष भर लोग इन खास दिनों का इंतजार करते हैं। वहीं गुजरात में भी पूरे नौ दिन मां की आराधना के साथ-साथ गरबा खेला जाता है। नवरात्री में माता जी के भक्त माँ को रिझाने के लिए हर संभव प्रयास करते है.गुजरात के सूरत में भक्तों ने माता रानी को रिझाने के लिए सबसे अलग ही तरीका खोज निकाला है.

इस बार महाष्टमी के दिन सूरत शहर में एक खास महाआरती का आयोजन किया गया। जिसमें हर कोई मां की आराधना में लीन दिखाई दिया। सूरत में अष्टमी की रात माता के 35 हजार से ज्यादा भक्तों ने एक साथ हाथों में दिए लेकर महाआरती की | सूरत के उमिया धाम मंदिर में पिछले 24 साल से यहां नवरात्री के पर्व में आठवें दिन महाआरती का आयोजन होता आ रहा है । करीबन 35 हजार से ज्यादा लोगों ने एक साथ उमिया माता के मंदिर में महाआरती की है |