पहले चरण में चुनाव को लेकर गाजियाबाद भी तैयारियां जोरों पर हैं। चुनाव में ईवीएम पर उठने वाले सवालों का जवाब देने के लिए चुनाव आयोग ने इस बार ईवीएम के साथ वीवी पैट मशीन लगाए जाने का फैसला किया है। वीवी पैट व्यवस्था के तहत वोटर डालने के तुरंत बाद कागज की एक पर्ची बनती है। इस पर जिस उम्मीदवार को वोट दिया गया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न छपा होता है। इतना ही नहीं गाजियाबाद के कलेक्ट्रेट में मीडिया के लिए विवि पैड मशीन की ब्रीफिंग भी रखी गई। यहां मशीन कैसे काम करती है और इसके जरिए किस तरह से ट्रांसपेरेंसी बनाई जा सकती है इसके बारे में जानकारी दी गई। चुनाव में जहां पारदर्शिता रखने के चुनाव आयोग हर मुमकिन कदम उठा रहा है वहीं गाजियाबाद की डीएम ने भी चुनाव को सही तरह से संपन्न कराने के लिए कोशिश तेज कर दी है। बता दें कि इस बार वोटिंग प्रतिशत को बढ़ाने के लिए जागरुकता अभियान चलाने की भी तैयारी है।