पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI अक्सर ऑपरेशन विषकन्या के जरिये भारतीय सैनिकों में घुसपैठ कर गुप्त सूचना जुटाने का प्रयास करती है। कभी-कभी इसमें उसे कामयाबी भी मिल जाती है। ताजा मामले में दुश्मन देश पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के जाल में फंसे दिल्ली एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51) ने गोपनीय दस्तावेज भी मुहैया करा दिए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ महीने पहले ISI के एक एजेंट ने लड़की बनकर अरुण मारवाह से संपर्क किया था। भ्रम में फंसे अरुण मारवाह खूबसूरत लड़की की आवाज पर ही दीवाने हो गए। इसके बाद दोनों में फोन पर लगातार चैटिंग होने लगी। यह भी बताया जा रहा है कि चैटिंग के दौरान अरुण मारवाह उस 'लड़की' से अश्लील बात भी करते थे। हनीट्रेप में फंस चुके हैं कई सैनिक 40 वर्षीय पाटन कुमार पोद्दार भारतीय सेना में सूबेदार के पद पर कार्यरत थे। सिकंदराबाद में रहते हुए फेसबुक में अनुष्का अग्रवाल नाम की एक लड़की से उसकी दोस्ती हुई।