भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर रविवार को एक अहम बैठक हुई. करतापुर कॉरिडोर एक धर्मस्थल है जो गुरुनानक देव जी से सम्बंधित है. श्रद्धालु यहां दुनिया भर से आते हैं. इस मामले में भारत और पाकिस्तान ने पिछले साल इसे शुरू करने के लिए आपस में सहमति बनाई थी. और अब ये भी माना जा रहा है कि ये कॉरिडोर इस साल नवंबर में जब गुरुनानक देव जी कि 550 वां जन्मोत्सव मनाया जायेगा तब तक पूरी ये पूरा बन जायेगा.एक बार खोले जाने के बाद तीन किमी लंबा गलियारा सिख तीर्थयात्रियों को करतारपुर में ऐतिहासिक गुरुद्वारा दरबार साहिब तक सीधे पहुंचने की अनुमति देगा, जहां 1539 में गुरु नानक देव जी का निधन हुआ था. इस विषय पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्लाह का कहना है कि ये कॉरिडोर भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध अच्छे बनाएगा.