कर्नाटक के सियासी संग्राम और गुरुवार को होने वाले बहुमत परीक्षण से पहले सुप्रीम कोर्ट में कानूनी दांवपेच खूब चला. कर्नाटक बागी विधायकों के मामले में सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगी फैसला.  मंगलवार को कोर्ट में बागी विधायकों की अर्जी पर सुनवाई हुई। बागी विधायकों ने अपना पक्ष रखते हुए स्पीकर की भूमिका पर सवाल उठाए। बागी विधायकों ने कहा कि वह इस्तीफा दे चुके हैं, लेकिन स्पीकर उसे जानबूझकर स्वीकार नहीं कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में पहले बागी विधायकों के वकीलों का पक्ष सुना गया. मुकुल रोहतगी ने विधायकों का पक्ष रखते हुए कहा कि बागी विधायक इस्तीफा दे चुके हैं. वे विधानसभा नहीं जाना चाहते हैं और जनता के बीच जाना चाहते हैं। लेकिन उसका इस्तीफा स्वीकार न करके जबरदस्ती की जा रही है.