New Delhi:  कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावती सुर छेड़ दिए हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश के कमलनाथ सरकार पर किसानों की कर्ज माफी ठीक से नहीं करने का आरोप लगाया है। मध्यप्रदेश के भिंड़ में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि  किसानों का कृषि ऋण माफी समग्रता से नहीं की गई है। केवल 50,000 रुपये तक का ऋण ही माफ किया गया है। जबकि हमने 2 लाख रुपये तक का ऋण माफ करने के लिए कहा था। वहीं अब सिंधिया के बयान पर मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ ने सफाई दी है.उन्होंने कहा है कि किसानों की कर्ज माफी को लेकर सिंधिया की चिंता ठीक है लेकिन हमने 50000 तक ऋण की पहली किस्त माफ की है कि बाकी 2 लाख तक लोन माफ करने के अपने चुनावी वायदे को जल्द ही पूरा करेंगे.

दूसरी ओर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के गायों की स्तिथि को लेकर किए गए ट्वीट का भी जवाब दिया है. उन्होंने लेकिन दिग्विजय सिंह के ट्वीट को लेकर कहा. हमारी सरकार ने ही गाय के मुद्दे को महत्व दिया है और हमने किसानों और गाय के मुद्दे पर अब तक बहुत कुछ किया है.

बीते शुक्रवार सुबह दिग्विजय सिंह ने सड़कों पर बैठी गायों का एक फोटो ट्वीट करते हुए लिखा था कि 'मध्य प्रदेश सरकार को तत्काल इन आवारा गौ माताओं को सड़कों से हटाकर गौ अभ्यरण या गौ शालाओं में भेजना चाहिए. कमलनाथ जी ने ऐसा कर दिखाया तो वो सच्चे गौभक्त में गिने जाएंगे.'