भाजपा नेता और झारखण्ड मंत्री सीपी सिंह ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इस घटना को राजनितिक ढंग देना सही नहीं है । ये भीड़ द्वारा की गई शर्मनाक हरकत है इसे भाजपा और आरएसएस से जोड़कर नहीं देखना चाहिए।