बिहार में ऐसी बाढ़ पिछले पचास वर्षों में नहीं आई थी। बिहार के 14 जिले खासकर, अरहरिया, सुपौल, किशनजंग, कटिहार, पूर्णिया, पूर्वी तथा पश्चिमी चंपारण, दरभंगा और सीतामढ़ी जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उत्तर और पूर्वी बिहार के एक करोड़ लोग इस विनाशकारी बाढ़ से प्रभावित हैं। बाढ़ से अब तक 100 लोगों की जान जा चुकी है। यह सच है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आग्रह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों के बचाव के लिए विशेष सुरक्षा दल बिहार को भेजा है। राहत की सामग्री भी बिहार भेजी गई है। मगर टीवी चैनलों पर रोते-बिलखते बाढ़ ग्रसित लोगों के चेहरे देखकर हृदय द्रवित हो जाता है। आपको बता दें कि आधिकारिक अनुमानों के अनुसार एक करोड़ गरीब जनता इस बाढ़ से ग्रसित हो गई है