हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते कई सड़को का लिंक टूट गया था. इसी के साथ तीन दिनों से लाहौल-स्पीति में बारिश हो रही थी और बर्फ भी पड़ रही थी जिसके चलते सड़कें अवरुद्ध हो गईं थी. ऐसी स्तिथि में हिमाचल प्रदेश के मंत्री रामलाल मारकंडा जो 3 दिन से काजा में फंसे हुए थे उन्हें मंगलवार को हेलीकाप्टर के जरिये रेस्क्यू किया गया. उन्हें रेस्क्यू करके शिमला लाया गया. उन्होंने बताया की तीन दिन से बहुत बारिश हो रही थी जिसमे फंसे 127 लोगों को उन्होंने बचाया.हिमाचल प्रदेश में बाढ़ से पीड़ित मृत्यु दर 24 घंटो में 22 हो गया.