ग्लोबल वार्मिंग का बुरा असर लगातार हमारे जीवन पर पढ़ रहा है । खेल भी अब ग्लोबल वार्मिंग के असर से अछूते नहीं रहे हैं । वैज्ञानिकों के मुताबिक मैराथन और दौड़ में अब नया रिकॉर्ड बनाना बेहद मुश्किल होगा। इन खेलों में सबसे अच्छे प्रदर्शन के लिए पूरी तरह खिलाड़ी की शारीरिक क्षमता ही जिम्मेदार होती है। जिस तापमान में एक खिलाड़ी का शरीर सबसे अच्छा प्रदर्शन कर सकता है, ग्लोबल वार्मिंग की वजह से उसका औसत स्तर पार हो चुका है। विशेषज्ञों ने 20 वर्षों के दौरान न्यूयॉर्क, लंदन, शिकागो, बोस्टन, बर्लिन और ओलंपिक में आयोजित की गईं 900 से अधिक मैराथन में 47 लाख Completion टाइम का Analysis किया। इसमें सामने आया कि दिन पर दिन बढ़ता तापमान खिलाड़ियों को उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं करने देगा और रिकॉर्ड तोडना बेहद मुश्किल हो जाएगा । आईये डालते हैं इन डरने वाले आकड़ों पर एक नज़र