अमेरिका के वाशिंगटन में अंतरिक्ष एजेंसी नासा की ओर से आयोजित  ‘ह्यूमन एक्सप्लोरेशन रोवर चैलेंज’ में भारतीय छात्र छाए रहे। ग़ज़ियाबाद स्थित काईट ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट के छात्रों की टीम ने नासा के नील आर्मस्ट्रांग सर्वश्रेष्ठ डिजाइन अवार्ड को अपने नाम किया। 

इस प्रतियोगिता में सभी टीमों को रोविंग व्हीकल तैयार करने की चुनौती दी गई थी दुनिया भर से आयी 100 टीमों को  हिदायत दी गई थी की डिजाइन ओपन लूनर चंद्र और मंगल ग्रह मिशन को ध्यान में रखकर तैयार करना है। जिस पर यह साईकल चलानी थी। और ये भी करना था कि कम से कम 2 लोग इसको चलाकर भी दिखा सकें ।

इसी को देख कर काइट के बच्चों ने इसकी तैयारी अक्टूबर से ही शुरू कर दी थी जब उनका कंफर्मेशन नासा से मिला तो उन्होंने इसमें और ज्यादा मेहनत करनी शुरू कर दी 7 महीनों की कड़ी मेहनत के बाद । 15 अप्रैल 2019 को अमेरिका के नासा में इन बच्चों को बेस्ट डिजाइनर का अवार्ड मिला।
 
यह प्रतियोगिता हाईस्कूल और कॉलेज स्तर के छात्रों के लिए होती है। इसमें भविष्य के चंद्रमा, मंगल और अन्य अंतरिक्ष अभियानों के लिए रोवर बनाने की प्रतियोगिता होती है। प्रतियोगिता में अमेरिका, भारत, ब्राजील, बांग्लादेश, मिस्र, जर्मनी और मेक्सिको समेत विभिन्न देशों की करीब 100 टीमों ने हिस्सा लिया।