वाराणसी में गंगा में बढ़ाव जारी है। गुरुवार की रात आठ बजे गंगा खतरे के निशान से 27 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थीं। अपस्ट्रीम में बारिश और बैराजों से छोड़े जा रहे पानी से गंगा के जलस्तर में वृद्धि दर्ज की जा रही है। केंद्रीय जल आयोग के अनुसार गुरुवार सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 71.46 मीटर था। जो रात आठ बजे तक 71.53 मीटर हो गया। आयोग के पूर्वानुमान के अनुसार शुक्रवार सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 71.77 मीटर तक हो सकता है। वाराणसी में खतरे का निशान 71.26 मीटर पर है। गंगा के पलटप्रवाह से वरुणा भी उफान पर हैं। वरुणा पर बने पुराने पुल के सातों फाटक पानी में समा चुके है। जल का प्रवाह फाटकों के ऊपर से हो रहा है। वहां तैनात सिंचाई विभाग के कर्मचारी ने बताया कि सुबह सवा छह बजे उसने पानी का स्तर फाटक से पौने तेरह फुट ऊपर देखा था जो दोपहर डेढ़ बजे तक 14 फुट से ऊपर हो गया था। करीब पांच घंटे में वरुणा का जलस्तर सवा फुट के आसपास बढ़ा। वर्ष 2013 की बाढ़ में पुराना पुल के फाटक के 18 फुट ऊपर से जल का प्रवाह हो रहा था।