दिल्ली के भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में इमरजेंसी वार्ड के पास शनिवार को अचानक आग लग गई. आग पहली और दूसरी मंजिल पर लगी थी. दमकल की 34 गाड़ियां भी मौके पर पहुंची . सुरक्षा के लिहाज से आनन-फानन में बिल्डिंग को खाली करा लिया गया था सभी डॉक्टरों और स्टाफ को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा है कि मरीजों को कोई समस्या नहीं हो रही है, जिन मरीजों को शिफ्ट किया गया था वो वापस अपने वार्ड में पहुंच गए हैं. नुकसान काफी ज्यादा हुआ है, मशीनें और दूसरे सामान जल गए हैं. उन्होंने कहा कि कितना नुकसान हुआ है उसका आकलन किया जा रहा है.

देश के प्रमुख चिकित्सा संस्थान ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (Aiims) में शनिवार को लगी आग से हर कोई हैरान है. इतने महत्वपूर्ण संस्थान में आग कैसे लगी, इसको लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं. सबसे प्रमुख बात यह है कि इन दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली गंभीर हालत में एम्स में भर्ती हैं. वह आग लगने की जगह से करीब 500 मीटर की दूरी पर दूसरे ब्लॉक में भर्ती हैं. वहां राष्ट्रपति, पीएम मोदी सहित कई केंद्रीय मंत्रियों और अन्य वीवीआईपी का आना-जाना लगा हुआ है.