पीएमओ में मंत्री डॉ जीतेंद्र सिंह के बयान पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के कद्दावर नेता फारुक अब्दुल्ला भड़के हुए हैं। जीतेंद्र सिंह का कहना है कि कश्मीर के राजनेताओं की ये आदत सी बन चुकी है कि जब वो सरकार में रहते हैं तो उन्हें जम्मू-कश्मीर भारत का अखंड हिस्सा नजर आता हैं। लेकिन जब वो विपक्ष का हिस्सा बनते हैं तो उन्हें कश्मीर की पहचान सताने लगती है और उन्हें उम्मीद की किरण पाकिस्तान में दिखाई देती है।डॉ जीतेंद्र सिंह आगे कहते हैं कि यह सिर्फ एक पार्टी यानि पीडीपी तक सीमित नहीं है। नेशनल कॉन्फ्रेंस भी इस तरह का रंग दिखा चुका है। जब फारुक अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के सीएम थे तो वो इस बात की शिकायत करते थे कि केंद्र सरकार पाकिस्तान की जमीन से चलने वाले आतंकी कैंपों को निशाना क्यों नहीं बनाती है।